Ads

Video Of Day

Author

Recent

Random Posts

randomposts

Friday, 2 August 2019

असली सफलता का समय जाने

सफलता का असली समय को कैसे पहचाने:- क्या आपको पता है हर दिन पूरे 24 घंटे में एक ऐसा समय आता है ,जब आपकी मांगी हुई हर दुआ कबूल होती है ,आज के टाइम में विज्ञान को मारने वाले पुराने जमाने की बातों को जो आज कहीं ना कहीं भी लुप्त हो गई है|

परंतु उसे एक नए प्रणाली के रूप में उभारा जा रहा है | तथा उसे नए नए नाम देकर लोग उससे काफी लाभान्वित हो रहे हैं| प्रत्येक व्यक्ति के समान इचछा होती है क्या वह जीवन में कुछ ऐसा कार्य करें , जिससे समाज में उसके कार्यों की सराहना हो लोग उसके विचारों का आदर दे | और उसकी मृत्यु के बाद में उसकी अच्छे कृती बने रहे खैर यह तो बहुत बड़ी बात है|
br />  लेकिन हमारे जीवन में इच्छाओं की कोई कमी नहीं है क्या हो जब हमें पता चल जाए 24 घंटे में एक ऐसा वक्त आता है जब हमारी सारी दुआ कबूल होती है ,और हम अनजाने में उस वक्त को गवा देते हैं बहुत अफसोस की बात है जो ज्ञान आज विलुप्त के कगार पर है वही ज्ञान हमें बहुत कुछ हासिल करने में मदद कर सकता है| परंतु उसमें कर्म प्रधान होता है, कर्म तो हमें करना ही होता है ,

लेकिन वह एक ऐसा वक्त है जोकि फिजिक्स के नियमानुसार चलती है जिसे हम (लो ऑफ अट्रैक्शन) कहते हैं उसी का एक बहुत प्रचलित प्रणाली है जिसमें मांगी हुई हर इच्छा पूर्ण होती है ,बस हमें मांगने का तरीका आना चाहिए और वह वक्त है 11:00 बज के 11 मिनट का चाहे दिन हो या रात जब भी यह वाला वक्त आता है, अगर हम उस समय अपने इष्ट या अपने खुदा से कुछ मांगते हैं, वह पूरी होती है इसके पीछे का विज्ञान अपने आप में कई रहस्य को छिपाया हुआ है |

तथा यह प्रणाली हमारे चेतन अवचेतन मन से जुड़ी हुई है • हमारे अवचेतन मन को जागृत करने में बहुत कारगर साबित होती है, जैसे ही हमारा अवचेतन मन जागृत होता है तो हमारे अंदर वह कॉन्फिडेंस खुशी उत्सव अंदर जागृत हो जाती है तथा हम किसी भी कार्य को करने के लिए पूर्णता खुद को तैयार मानने लगते हैं, और हमारी इच्छा शक्ति भी काफी मजबूत होती है ,

 और तो और जैसे कि हमने बताया यह प्रणाली अपने आप में बहुत गहरे रहस्य को छुपाए हुई है , खैर हमें इन बातों में बिना उलझे 11:11 वाली प्रणाली को अपनाकर अपनी विश पूरी करते हैं, आपको बस करना यह है कि जब भी यह वकत आये, आप विस मागे इस समय मांगा हुआ विस 100% पुरा होता है। किनतु विशवास से मांगना होगा|

No comments:

Post a comment

loading...